पीएम मोदी ने बुद्धिजीवियों संग किया संवाद, मांगा एक और मौका

लखनऊ (मानवीय सोच) यूपी विधान सभा चुनाव के लिए आखिरी चरण का मतदान रह गया है. इसके लिए 7 मार्च को वोट डाले जाने हैं. ऐसे में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में मोर्चा संभाला हुआ है. इसी कड़ी में पीएम मोदी ने शनिवार को बुद्धिजीवियों और अन्य प्रमुख हस्तियों के साथ संवाद किया.

प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन का आयोजन

उन्होंने कहा कि अगर भाजपा उत्तर प्रदेश में सत्ता में लौटती है, तो राज्य आर्थिक विकास के मामले में सबसे आगे होगा. वाराणसी के रमन निवास में आयोजित ‘प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन’ में लगभग 200 प्रतिभागियों ने प्रधानमंत्री के साथ संवाद किया. प्रतिभागियों के मुताबिक, लोक सभा में वाराणसी का प्रतिनिधित्व करने वाले मोदी ने राज्य में एक स्थिर सरकार के गठन पर भी जोर दिया, जो साहसिक निर्णय ले सके.

कई हस्ती रहे मौजूद

संवाद में पद्म भूषण विजेता शास्त्रीय गायक छन्नूलाल मिश्रा और बीएचयू के कुलपति सुधीर जैन सहित कई हस्तियों ने हिस्सा लिया. ‘केशव पान वाला’ के नाम से मशहूर पान विक्रेता अश्विनी चौरसिया और चाय बेचने वाले पप्पू भी संवाद में शामिल हुए, जिनकी दुकान पर मोदी ने चाय का लुत्फ उठाया था.

सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत

इसके अलावा पद्मश्री से सम्मानित पंडित हरिहर कृपालु त्रिपाठी, मशहूर बिल्डर नितिन मेहरोत्रा और विश्व प्रसिद्ध चिकित्सक कमलाकर त्रिपाठी ने भी संवाद में हिस्सा लिया. निर्यात कारोबारी रमा रमन, जिनके परिसर में कार्यक्रम आयोजित किया गया था, ने बताया कि प्रधानमंत्री ने उपस्थित लोगों के साथ बेहद सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत की. इस दौरान उन्होंने न तो किसी पार्टी का जिक्र किया, न ही किसी नेता का नाम लिया.

शहर ने दुनिया को दिए कई बुद्धिजीवी 

रमन के मुताबिक, मोदी ने प्रतिभागियों से कहा कि अमेरिका स्थित बोस्टन की यात्रा के दौरान उन्हें पता चला कि वहां की एक सड़क का नाम काशी के नाम पर रखा गया है, क्योंकि प्राचीन शहर ने दुनिया को कई बुद्धिजीवी दिए हैं. वहीं, संवाद में शामिल अशोक तिवारी ने बताया कि प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर भाजपा सरकार को 5 साल और शासन करने का मौका मिलता है तो उत्तर प्रदेश देश में आर्थिक विकास के मामले में सबसे अग्रणी राज्य बन जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.