संसद भवन में कोरोना का महाविस्फोट

नई दिल्ली (मानविया सोच): राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना जांच के दौरान संसद भवन में कार्यरत 400 से अधिक कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। सूत्रों के अनुसार इन कर्मचारियों की छह और सात जनवरी को जांच की गयी थी जिसमें ये सभी कोरोना से संक्रमित पाये गए। लगभग 1400 स्टाफ सदस्यों की कोरोना जांच की गई थी जिनमें 400 से अधिक कोरोना से संक्रमित पाये गए हैं। कोरोना से संक्रमित पाए गए अधिकांश लोगों में कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए थे।

संसद के आगामी बजट सत्र से पहले यह जांच रिपोर्ट सामने आई है। संसद के बजट सत्र की तारीखों की घोषणा अभी तक नहीं की गई है। यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि कोरोना से संक्रमित कितने कर्मचारी ओमिक्रॉन से संक्रमित हुए हैं। इसका खुलासा जांच नमूनों की जीनोम सीक्वेंस के बाद किया जाएगा।

संसद परिसर में कर्मचारियों और सांसदों के जांच परीक्षण की व्यवस्था की गई है और लोकसभा सचिवालय ने भी सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार 60 से ऊपर के सांसदों के लिए बूस्टर डोज देना कर दिया है। रविवार को जारी एक सर्कुलर में कहा गया है कि संसद परिसर में कोविशील्ड या कोवैक्सीन के बूस्टर शॉट लेने के लिए 60 साल से अधिक उम्र के सांसदों के लिए अन्य रोगों की जांच की भी व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.