इस महिला विधायक ने लगाया दुर्व्यवहार का आरोप

रांची (मानवीय सोच) झारखंड विधान सभा बजट सत्र के तीसरे दिन बाबा नगरी देवघर का मुद्दा सदन में छाया रहा. सदन की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद विधान सभा अध्यक्ष के आसन के करीब पहुंच गईं और बाबा धाम में दुर्व्यवहार का आरोप लगाकर हंगामा खड़ा कर दिया.

कार्रवाई की मांग की

बता दें कि कांग्रेस की बड़कागांव विधायक अंबा प्रसाद ने महाशिवरात्रि के अवसर पर देवघर स्थित बाबा धाम में अपने साथ दुर्व्यवहार का आरोप लगाया था. इसको लेकर बुधवार को राज्य विधान सभा में हंगामा खड़ा कर दिया. विधायक ने संबद्ध अधिकारियों और प्रबंध समिति के लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

कार्रवाई के दिए आदेश

विधायक के आरोप के बाद विधान सभा अध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो ने सरकार को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए. वहीं, विधायक का कहना है कि कथित दुर्व्यवहार के मामले में संबद्ध जिला प्रशासन के अधिकारियों और देवघर श्राइन बोर्ड के अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

कई विधायकों का मिला साथ

सत्ताधारी पक्ष के विधायकों समेत भाजपा के कई विधायकों ने भी उनका साथ देते हुए अध्यक्ष के आसन के सामने आकर धरना दिया. कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद द्वारा उठाए गए प्रश्न पर मुख्य सचेतक भाजपा विरंची नारायण ने भी समर्थन किया. विरंची नारायण ने कहा कि अंबा प्रसाद के साथ मंदिर परिसर में दुर्व्यवहार सभी विधायकों के दुर्व्यवहार के समान है.

मंदिर परिसर में हुआ दुर्व्यवहार

अंबा प्रसाद ने सदन में देवघर की घटना की जानकारी देते हुए कहा कि भीड़ में महिलाओं की स्थिति ठीक नहीं थी. कई महिलाएं भीड़ में फंसी हुई थीं, ऐसे में वो उनसे मिलना चाहती थीं. जब महिलाओं के साथ भीड़ में दुर्व्यवहार की बात सामने आई, तो एक महिला के साथ जनप्रतिनिधि होने के नाते उन्होंने SDO (अनुमंडलीय पदाधिकारी) से बात करनी चाही. SDO को जब इसकी सूचना दी गई, तब उन्होंने आने से इनकार कर दिया और उल्टे SDO ने उन्हें अपने कार्यालय में आने को कहा. इतना ही नहीं मंदिर परिसर में भी, उनके साथ दुर्व्यवहार हुआ.

मंत्री ने दिया आश्वासन

सदन में ये प्रस्ताव आते ही विधान सभा अध्यक्ष रवीन्द्रनाथ महतो ने इसको गंभीरता से लिया और सदन में विधायकों की मांग को ध्यान में रखते हुए, उन्होंने संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम से कहा कि अधिकारी के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाए. जवाब में संसदीय कार्य मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.