गैंगरेप केस को सांप्रदायिक रंग देने की कोशश, दीवार पर लिखे भड़काऊ नारे

नई दिल्ली (मानवीय सोच) राजधानी दिल्ली के कस्तूरबा नगर इलाके में महिला के साथ हुई हैवानियन के मामले को सांप्रदायिक रंग में बदलने की कोशिश की जा रही है। एक विशेष समुदाय के कुछ लोगों ने पीड़िता के घर की दीवार पर भड़काऊ बातें लिखी। इनमें पंजाब में लगभग चार दशक पहले मारे गए एक चरमपंथी के नाम का भी उल्लेख किया गया था। इस घटना के बाद हरकत में आई पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपियों की तालश में जुट गई है।

पुलिस के मुताबिक एक लड़की के साथ सेकुलुअल हरासमेंट की घटना के बाद इलाके में फोर्स मौजूद थी। सोमवार रात कुछ लोग पीड़िता के घर मिलने की बात बोलकर पुलिस से पहले इजाजत ली फिर उसके घर गए। पीड़िता से मिलकर आने के बाद उन लोगों ने दीवार पर भिंडरवाला लिखकर सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने की कोशिश की। इतना ही नहीं उन लोगों ने नारेबाजी भी की।

सूचना मिलते ही हकरत में आई विवेक विहार थाने की पुलिस ने नारेबाजी करने और दीवार पर लिख आपराधिक साजिश के तहत सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने, धार्मिक भावनाएं भड़काने और दंगे की कोशिश के तहत आईपीसी की धारा 153, 153ए, 120बी और 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

पंजाबी में लिखे थे आपत्तिजनक नारे
पुलिस ने बताया कि पीड़िता के घर की दीवार के बाहर पंजाबी में भड़काऊ बातें लिखी थीं। विवेक विहार थाने में पंजाबी की समझ रखने वाले सिपाही को बुलवाया गया। पुलिसकर्मी ने पढ़कर बताया कि दीवार पर लिखे गए नारों की भाषा बेहद आपत्तिजनक है और सांप्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाली है।

अब तक 13 लोग गिरफ्तार
इस हैवानियत के मामले में पुलिस ने अब तक 13 लोगों को गिरफ्तार किया है जिसमें से 12 महिलाएं शामिल है। इसके अलावा तीन नाबालिक को भी हिरासत में लिया गया है। पुलिस वीडियो और सीसीटीवी से जांच कर बाकी लोगों की पहचान करने की प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.