21 साल का ये खिलाड़ी है रोहित जितना घातक ओपनर

नई दिल्ली (मानवीय सोच) रोहित शर्मा  को हाल ही में तीनों फॉर्मेट में टीम इंडिया का नया कप्तान नियुक्त किया गया. रोहित जितने शानदार कप्तान हैं उससे भी बेहतरीन वो बल्लेबाज माने जाते हैं. रोहित दुनिया के इकलौते बल्लेबाज हैं जिनके नाम वनडे क्रिकेट में तीन डबल सेंचुरी हैं. लेकिन रोहित इस वक्त 34 साल के हैं और कुछ ही साल में वो रिटायरमेंट की घोषणा कर सकते हैं. ऐसे में टीम को उनके ही जैसे एक और घातक ओपनर की जरूरत होगी. 21 साल का एक बल्लेबाज पहले से मौजूद है जो रोहित की जगह ले सकता है.

ये बल्लेबाज बनेगा नया हिटमैन

बता दें कि रोहित शर्मा  इस वक्त 34 साल के हैं और इस उम्र के बाद कुछ ही सालों में ज्यादातर खिलाड़ी इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह देते हैं, ऐसे में रोहित की जगह टीम इंडिया को एक नए ओपनिंग बल्लेबाज की जरूरत होगी. ये जिम्मा युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ संभाल सकते हैं. भले ही इस बल्लेबाज को टीम में ज्यादा मौके नहीं मिले हों लेकिन पूरी दुनिया जानती है कि आने वाले समय में ये खिलाड़ी भारतीय टीम का भविष्य है. शॉ की बल्ले ने जो सनसनी फैलाई है उसकी गूंज पूरी दुनिया ने सुनी है. सिर्फ 21 साल का ये बल्लेबाज कुछ ही ओवरों में टीम में को जीत दिलाने के लिए जाना जाता है.

आईपीएल में बवाल काटता है बल्ला

पृथ्वी शॉ ने आईपीएल 2021 में धमाल मचाया था. शॉ के बल्ले से पिछले सीजन जमकर रन निकले हैं और यही एक बड़ा कारण है कि दिल्ली कैपिटल्स टेबल में टॉप पर रही. उन्होंने शिखर धवन के साथ मिलकर जमकर विरोधी टीमों के सिर में दर्द किया. शॉ ने इस साल सिर्फ 15 मैचों में 479 रन ठोके. शॉ की तुलना खुद बड़े-बड़े दिग्गज सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग और ब्रायन लारा से करते आए हैं. ऐसे में भारत को आने वाले समय में अपना तगड़ा ओपनर मिल चुका है.

अंडर-19 टीम को जिताया था वर्ल्ड कप

पृथ्वी शॉ की कप्तानी में भारत एक बार अंडर-19 का खिताब भी जीत चुका है. भारत के युवा सितारों ने जब 2018 के अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को मात दी तो शॉ उस टीम के कप्तान थे. शुभमन गिल और शिवम मावी जैसे सितारे भी उस वक्त उसी टीम का हिस्सा थे. ऐसे में ये बात भी साफ होती है कि शॉ बेहतर बल्लेबाज के साथ-साथ एक अच्छे कप्तान भी हैं.

रोहित की गैरमौजूदगी में करते हैं ओपनिंग

पृथ्वी शॉ रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में अक्सर टीम इंडिया के लिए ओपनिंग का जिम्मा संभालते हैं. इस साल की शुरुआत में शॉ को खराब प्रदर्शन के चलते टीम इंडिया से बाहर कर दिया गया था, लेकिन उन्होंने बेहतरीन खेल के दम पर भारत की टेस्ट और सीमित ओवर टीम में एक बार फिर से वापसी कर ली. क्रिकेट के बड़े-बड़े दिग्गज ये मानते हैं कि शॉ की किताब में हर वो शॉट है जो उन्हें इस दुनिया का सबसे ताबड़तोड़ ओपनर बनने के लिए प्रेरित करता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.