पाकिस्तान में हुई मोस्ट वांटेड आतंकी की मौत

पाकिस्तान में सालों के छिपे हुए खालिस्तान समर्थक और मोस्ट वांटेड आतंकी गजिंदर सिंह की शुक्रवार (5 जुलाई) को दिल का दौड़ा पड़ने से उसकी मौत हो गई. गजिंदर सिंह 73 साल का था. माना जाता है कि साल 1981 में गजिंदर सिंह दिल्ली-श्रीनगर इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट को हाईजैक करने वाले आतंकवादियों में से एक था. गजिंदर सिंह पिछले कई सालों से पाकिस्तान में ही छिपा हुआ था. उसने अपने पूरे जीवनकाल में भारत विरोधी कदम उठाए. उसने खालसा दल नाम के एक कट्टरपंथी सिख संगठन की स्थापना भी की थी. गजिंदर सिंह का नाम साल 2002 में भारत के  20 सबसे मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की लिस्ट में शामिल किया गया था. भारत विरोधी दल खालसा के संस्थापक गजिंदर सिंह ने साल 1981 में जरनैल सिंह भिंडरावाले की गिरफ्तारी के विरोध में इंडियन एयरलाइंस की फ्लाइट को हाईजैक किया था. गजिंदर सिंह पिछले काफी समय से अस्पताल में भर्ती था. अब अलगाववादियों की तरफ से उसकी मौत की पुष्टि की गई है. गजिंदर सिंह ने अपने जीवन में भारत विरोधी कई कदम उठाए, यही नहीं उसने बहुत से मासूम लोगों को भारत से नफरत करने का पाठ पढ़ाया. उसने भारत विरोधी कई सारे आंदोलन किए. साल 1996 से ही भारत की सुरक्षा एजेंसियां गजिंदर सिंह की तलाश में लगी हुई थीं. भारत से छूपने लिए गजिंदर सिंह ने सबसे पहले जर्मनी पनहा ली थी. भारत की ओर से आपत्ति जताए जाने के बाद गजिंदर सिंह जर्मनी से पाकिस्तान आ गया था. तब से करीब 3 दशकों से गजिंदर सिंह  पाकिस्तान में रह रहा था.