रविचंद्रन अश्विन ने काटा इस जादुई स्पिनर का पत्ता, अधूरा रह गया टी20 वर्ल्ड कप खेलने का सपना

नई दिल्ली: आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप 2021 के लिए टीम इंडिया के सीनियर स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के चयन से हर कोई हैरान था, लेकिन उनकी वापसी से भारत के पास एक जादुई स्पिनर को छुट्टी मिली है.

कुलदीप की छुट्टी
कुलदीप यादव भी टी20 विश्व कप खेलने के लिए उत्सुक थे, लेकिन हाल ही में श्रीलंका दौरे पर मिले मौके को भुनाने में वह नाकाम रहे, इस दौरान उन्होंने 2 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 23.00 का औसत निकाला। और 7.66 की इकॉनमी रेट से सिर्फ 2 विकेट लिए। यहां से उनके लिए रास्ता मुश्किल हो गया।

कुलदीप का अंतरराष्ट्रीय करियर
कुलदीप यादव ने टीम इंडिया के लिए 23 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 14.21 के औसत और 7.15 के इकॉनमी रेट से केवल 41 विकेट लिए हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी आंकड़ा 5/24 था जो उन्होंने वर्ष 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर में हासिल किया था।

 

अश्विन को मिला अनुभव का लाभ
रविचंद्रन अश्विन ने टीम इंडिया के लिए 46 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने 6.97 की इकॉनमी रेट से 52 विकेट लिए हैं। अनुभव के मामले में वह कुलदीप यादव से बेहतर हैं, इसलिए अश्विन को तरजीह दी गई।

जादू की गेंदबाजी काम नहीं आई

कुलदीप यादव में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। वह एक खास तरह की गेंदबाजी करना जानते हैं जिसे ‘चाइनामैन बॉलिंग’ कहा जाता है। यह एक बहुत ही अनोखी गेंदबाजी शैली है, जिसमें बाएं हाथ का स्पिनर उंगलियों के बजाय कलाई से गेंद को घुमाता है। इसके बावजूद वह लंबे समय से लगातार नहीं चल रहे हैं, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा है।

 

Source-agency News

Leave a Reply

Your email address will not be published.