रोहित शर्मा की तरह ये दोनों खिलाड़ी भी बन सकते हैं टी20 टीम के नए कप्तान

नई दिल्ली: भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने टी20 वर्ल्ड कप से पहले एक बड़ा फैसला लिया है। विराट कोहली ने कहा कि वह इस साल विश्व कप के ठीक बाद टी20 टीम की कप्तानी छोड़ देंगे। दरअसल, विराट ने यह फैसला इसलिए लिया है क्योंकि तीनों फॉर्मेट में भारतीय टीम की कप्तानी करने से उनके खेल पर काफी असर पड़ रहा है। ऐसे में टीम इंडिया को नया कप्तान मिलेगा, जिसके लिए कई खिलाड़ी दावेदार हैं।

रोहित शर्मा सबसे बड़े दावेदार

विराट कोहली जैसे ही टी20 टीम की कप्तानी करेंगे तो इस पद के सबसे बड़े दावेदार उनके दोस्त रोहित शर्मा होंगे। कोहली के बाद रोहित टीम के सबसे दिग्गज खिलाड़ी रहे हैं। रोहित की कप्तानी में टीम इंडिया को आज तक कभी किसी सीरीज या बड़े टूर्नामेंट में हार का सामना नहीं करना पड़ा है। ऐसे में माना जा रहा है कि रोहित ही अगले कप्तान होंगे। लेकिन आपको बता दें कि दो और बेहतरीन खिलाड़ी भी टी20 टीम के नए कप्तान बनने के दावेदार हो सकते हैं।

इस खिलाड़ी के पास भी है दम

रोहित शर्मा की जगह टीम इंडिया में एक और खिलाड़ी है जिसे बीसीसीआई टी20 में कप्तान बना सकता है। ये खिलाड़ी हैं केएल राहुल। राहुल भी सीनियर खिलाड़ी हैं और उन्होंने आईपीएल में पंजाब किंग्स की कप्तानी बहुत अच्छी की है। अगर बीसीसीआई अन्य टीमों की तरह हर फॉर्मेट के लिए कप्तान चुनता है तो राहुल भी बड़े दावेदार हैं। राहुल अच्छी विकेटकीपिंग भी करते हैं और अगर कोई विकेटकीपर कप्तान की भूमिका निभाता है तो वह खेल को ज्यादा समझता है।

क्या धोनी की तरह खुलेगी पंत की किस्मत?

टीम इंडिया के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत भी नए कप्तान बनने की ताकत रखते हैं। दरअसल पंत ने पिछले काफी समय से खुद को भारतीय टीम में स्थापित किया है। चयनकर्ता पंत को पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की तरह आजमा सकते हैं। पंत भी धोनी की तरह मौजूदा विकेटकीपर हैं और उन्हें विकेट के पीछे से खेल की अच्छी समझ है। वहीं, आईपीएल 2021 के पहले हाफ में पंत ने बेहतरीन तरीके से दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी की। दिल्ली इस समय पॉइंट टेबल में टॉप पर है और इस साल आईपीएल जीतने की बड़ी दावेदार भी है।

इस वजह से कोहली ने लिया ये फैसला

दरअसल, विराट ने यह फैसला इसलिए लिया है क्योंकि तीनों फॉर्मेट में भारतीय टीम की कप्तानी करने से उनके खेल पर काफी असर पड़ रहा है। दरअसल पिछले कुछ समय से विराट की फॉर्म ठीक नहीं चल रही थी, जिसके चलते उन्होंने इतना बड़ा फैसला लिया है. हालांकि विराट कोहली ने टेस्ट और वनडे टीमों की कप्तानी बरकरार रखने का फैसला किया है। पिछले कुछ सालों से कोहली का बल्ला पहले की तरह नहीं चल पा रहा है. कोहली पिछले दो साल से सभी प्रारूपों में कोई शतक नहीं बना पाए हैं।

Source-agency News

Leave a Reply

Your email address will not be published.