लखनऊ विश्वविद्यालय में विदेशी छात्रों की संख्या लगातार बढ़ रही

लखनऊ विश्वविद्यालय में विदेशी छात्रों की संख्या लगातार बढ़ रही है। शैक्षिक सत्र 2024-25 में प्रवेश प्रक्रिया जारी है। इसी क्रम में इस बार भी  अलग-अलग 76 देशों से 1800 से विदेशी छात्रों ने यहां पर आवेदन किया है। इससे कहीं न कहीं लगता है कि विदेशों में भारतीय शिक्षा व्यवस्था को बेहतर माना जाता है। लखनऊ विश्वविद्यालय ने अपनी वैश्विक दृष्टि के साथ, कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय के मार्गदर्शन में इस शैक्षणिक सत्र में लगभग 1800 विदेशी छात्रों की रिकॉर्ड रुचि देखी है, जो अब तक की सबसे बड़ी वृद्धि है।

विश्वविद्यालय को भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (आईसीसीआर) के माध्यम से 1768 आवेदन प्राप्त हुए हैं, और स्व-वित्तपोषित श्रेणी में 50 से अधिक आवेदन पत्र प्राप्त हुए हैं। विश्वविद्यालय को शैक्षणिक सत्र 2023-2024 में 1346 आवेदन और शैक्षणिक वर्ष 2022-2023 में 814 आवेदन प्राप्त हुए। शैक्षणिक सत्र 2021-2022 में आवेदनों की संख्या 637 थी। दुनिया भर के लगभग 76 देशों से आवेदन प्राप्त हुए हैं, और छात्रों ने लगभग हर संकाय के पाठ्यक्रमों में अपनी रुचि व्यक्त की है।