वीडियो: ‘धोनी रिव्यू सिस्टम’ से बचना मुश्किल, माही के तेज दिमाग ने बल्लेबाज को ऐसे किया परेशान

दुबई: चेन्नई सुपर किंग्स ने रविवार को खेले गए आईपीएल मैच में मुंबई इंडियंस को 20 रन से हरा दिया। इस मैच में भले ही धोनी बल्ले से कुछ खास नहीं कर पाए, लेकिन विकेट के पीछे अपने शानदार प्रदर्शन से बल्लेबाज भी हैरान रह गए. भारत के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि उन्हें डिसीजन रिव्यू सिस्टम (डीआरएस) का ‘मास्टर’ क्यों कहा जाता है।

धोनी से नहीं जीत सकते अंपायर

DRS को धोनी रिव्यू सिस्टम के नाम से भी जाना जाता है। शायद ही कोई मौका हो जब धोनी ने रिव्यू के मामले में गलती की हो। आमतौर पर धोनी जब भी रिव्यू लेते हैं तो अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ता है और ऐसा ही रविवार को मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेले गए आईपीएल मैच में देखने को मिला.

डीआरएस फिर साबित हुआ धोनी का रिव्यू सिस्टम

दरअसल, मुंबई इंडियंस की बल्लेबाजी के तीसरे ओवर की पहली ही गेंद पर दीपक चाहर ने क्विंटन डी कॉक को पूरी तरह से चकमा दे दिया। गेंद सीधे उनके पैड पर लगी, लेकिन मैदानी अंपायर ने डी कॉक को नाबाद घोषित कर दिया। फिर धोनी फ्रेम में आते हैं और हाथ उठाकर रिव्यू लेते हैं। धोनी के रिव्यू लेते ही साफ हो जाता है कि अब क्विंटन डी कॉक को पवेलियन लौटना होगा. थर्ड अंपायर ने क्विंटन डी कॉक को आउट घोषित कर दिया और एक बार फिर यह साबित हो गया कि डीआरएस का मतलब धोनी रिव्यू सिस्टम है। वहीं अगर मैच की बात करें तो CSK की टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया.

ट्विटर पर धोनी

धोनी ने एक बार फिर साबित कर दिया कि डीआरएस लेने में उनका कोई मुकाबला नहीं है। आपको बता दें कि डीआरएस को धोनी रिव्यू सिस्टम नाम इसलिए पड़ा क्योंकि डीआरएस लेने के मामले में धोनी के आसपास कोई नहीं है। धोनी जब भी डीआरएस लेते हैं तो 99% सही होते हैं। इसके बाद एक बार फिर धोनी डीआरएस को लेकर ट्विटर पर छा गए।

चेन्नई ने मुंबई को हराया

बता दें कि रितुराज गायकवाड़ (नाबाद 88) की अर्धशतकीय पारी के बाद चेन्नई सुपर किंग्स ने यहां दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2021 के मैच में मुंबई इंडियंस को 20 रन से हरा दिया. पहले बल्लेबाजी करते हुए, चेन्नई सुपर किंग्स ने टॉस जीतकर 20 ओवर में छह विकेट पर 156 रन बनाए, जिसमें गायकवाड़ ने 58 गेंदों में नौ चौकों और चार छक्कों की मदद से नाबाद 88 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई की टीम सौरव तिवारी की नाबाद 50 रन की 40 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 20 ओवर में आठ विकेट पर 136 रन ही बना सकी. चेन्नई के लिए ड्वेन ब्रावो ने तीन और दीपक चाहर ने दो विकेट लिए जबकि जोश हेजलवुड और शार्दुल ठाकुर ने एक-एक विकेट लिया।

Source-agency News

Leave a Reply

Your email address will not be published.