सीतापुर में पीएम मोदी ने किया ऐसा करारा प्रहार, विपक्षियों की बोलती हो जाएगी बंद

सीतापुर (मानवीय सोच) यूपी असेंबली के चुनाव में तीसरे चरण के लिए इलेक्शन होने वाला है. बीजेपी को दोबारा सत्ता में लाने में जुटे पीएम नरेंद्र मोदी सीतापुर में जनसभा को संबोधित किया.

‘योगी जी ने 5 लाख में 4.5 लाख सरकारी नौकरियां दी’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘2007-2017 तक के बीच 10 साल में इन्होंने 2 लाख से भी कम सरकारी नौकरियां यूपी के युवाओं को दी थी. योगी जी सरकार ने 5 साल में 4.5 लाख सरकारी नौकरियां दी है. घोर परिवारवादियों की सरकार में नौकरियां किस तरह मिलती थीं, ये यूपी के लोग अच्छे से जानते हैं.’

विपक्षियों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘ये घोर परिवारवादियों ने इतने वर्षों तक अपने कारीगरों पर हुनर के बजाय विदेश से आयात पर ही बल दे दिया. हमने झांसी से लेकर अलीगढ़ तक डिफेंस कॉरिडोर का काम शुरू किया है.’

उन्होंने कहा, ‘आज हम लोकल के वोकल होने की बात कर रहे हैं, इसके पीछे यही हमारा प्रयास है, हमारी कोशिश है कि देश में अधिक से अधिक उत्पादन हो, रोजगार के अधिक से अधिक अवसर बने.’

‘वोकल फॉर लोकल बोलने पर भी विपक्ष को दुख’

पीएम मोदी ने कहा, ‘वोकल फॉर लोकल बोलने पर भी विपक्ष के नेताओं को दुख होता है. क्योंकि वोकल फॉर लोकल बोलने से क्रेडिट मोदीजी को योगी जी को मिलेगा. घोर परिवारवादियों की सोच ने वर्षों तक अपने कारीगरों के हुनर पर बल देने के बजाए, विदेश से आयात पर बल दिया.’

उन्होंने कहा, ‘अब योगी जी की सरकार यूपी के लोगों को, इन दंगाइयों से, अपराधियों से, मुक्ति दिलाने का काम कर रही है. इसलिए आज पूरा यूपी कह रहा है- जो कानून का राज लाए हैं, हम उनको लाएंगे.’

‘यूपी में थी पहले घोर परिवारवादियों की सरकार’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘अगर आपके पास घर है, बंगला है, गाड़ी है, उद्योग है, खेत खलिहान है, सुख ही सुख है, लेकिन आपकी जवान बेटी या बेटा घर से बाहर गया हो, और शाम को उसका शव आए तो ये घर, ये पैसे किस काम के? आपको चाहिए, सुरक्षा. जब कानून का राज नहीं होता, तो सबसे ज्यादा पिसना गरीब को ही पड़ता है. माफियाओं के राज में गरीब की सुनवाई नहीं होती. उत्तर प्रदेश में जो पहले घोर परिवारवादियों की सरकार थी, उन्होंने यही माहौल बना रखा था.’

शौचालयों पर बोलते हुए पीएम मोदी  ने कहा, ‘भाजपा सरकार ने यूपी में 2 करोड़ से ज्यादा शौचालयों का निर्माण करके माता-बहनों की बहुत बड़ी परेशानी दूर की. शौचालय को इज्जतघर नाम उत्तर प्रदेश से ही मिला है. दिल्ली में शासन करने वालों की इसकी समझ नहीं है कि गरीब की जिंदगी में शौचालय की कितनी अहमियत है. भाजपा सरकार ने यूपी में 2 करोड़ से ज्यादा इज्जत घरों का- शौचालयों का निर्माण करके उनके जीवन की बहुत बड़ी परेशानी दूर की.’

‘माताओं-बहनों को दी अपमान से मुक्ति’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘गरीब माताओं-बहनों-बेटियों को खुले में शौच के अपमान से, पीड़ा से मुक्ति चाहिए थी. आजादी के सात-सात दशक के बाद मेरी गरीब मां अंधेरे का इंतजार करती थी. ये मेरी गरीब मां का दर्द, गरीब परिवारों का दर्द, गरीबी से आया हूं उसका बेटा ही जान सकता है.’

उन्होंने कहा, ‘डबल इंजन की सरकार डबल शक्ति से यूपी को उत्तम प्रदेश बनाने के लिए, गरीब को सशक्त बनाने के लिए काम कर रही है. गरीब, पिछड़े, दलित भाई-बहनों का सपना था कि उनके पास भी अपना घर हो. भाजपा सरकार ने 5 साल में यूपी में 34 लाख पक्के घर बनाकर गरीबों को दिए हैं.’

‘मैंने गरीबी जी करके आया हूं’

पीएम मोदी  ने कहा, ‘मैं आपकी तरह ही एक गरीब परिवार से आया हूं. मैंने गरीबी के भाषण नहीं सुने, मैं गरीबी जी कर आया हूं. गरीब की जिंदगी क्या होती है, इससे गुजरकर मैं आपके बीच पहुंचा हूं.’

आयुष्मान योजना पर बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘इस कोरोना काल में गरीबों को आयुष्मान भारत योजना का भी बहुत लाभ मिला है. जो गरीब पहले अच्छे अस्पताल में इलाज की सोच भी नहीं सकता था, आज वो वहां मुफ्त इलाज करा रहा है. विदेशों में कोरोना का टीका बहुत ज्यादा कीमतों पर लग रहा है. लेकिन भारत में भाजपा सरकार के लिए तिजोरी नहीं, देशवासियों की जिंदगी कीमती है.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘तिजोरी खाली कर देंगे, लेकिन टीका घर-घर पहुंचाकर रहेंगे. ये काम हमने किया है. पूरे कोरोना काल में हमारा एक बात पर ध्यान केंद्रित रहा कि किसी गरीब के घर में ऐसा दिन नहीं आना चाहिए ताकि घर का चूल्हा ना जला हो.’

‘गरीबों का पेट भरने के लिए हम जागते रहे’

कोरोना में राशन पर बोलते हुए पीएम ने कहा, ‘गरीब के घर में किसी को भूखा सोना न पड़ इसके लिए हम जागते रहे हैं.  गरीब का राशन जो पहले माफिया लूट लेता था, उसका एक-एक दाना आज गरीब के घर पहुंच रहा है. इस पूरे कालखंड में मेरा ये फोकस रहा कि किसी गरीब के घर में ऐसा दिन नहीं आना चाहिए, जिसमें उसके घर का चूल्हा न जले.  गरीब को भूखा न सोना पड़े, इसके लिए हम जागते रहे हैं.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सरकार ने इस पर 2 लाख 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च कर रही है. गरीब भले ही किसी भी वर्ग का हो, दलित हो, पिछड़ा हो वो जानता है कि किसने संकट के समय साथ दिया और कौन संकट के समय लापता हो गया था, ये गरीब बराबर जानता है.’

‘संत रविदास के आदर्श पर चलने की कोशिश’

पीएम मोदी  ने कहा, ‘संत रविदास जी की प्रेरणा से हमारी सरकार सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास के मंत्र पर चल रही है. हमारी योजनाओं के केंद्र में गरीब है, दलित-शोषित-पिछड़े-वंचितों का कल्याण है.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘2017 से पहले यूपी में जिन्होंने सरकार चलाई उन्हें संत रविदास जी से कितनी चिढ़ रही है, ये यूपी के लोग अच्छे से जानते हैं. दशकों से संत रविदास जी के भक्त हर सरकार से इसकी मांग करते थे, लेकिन चुनाव आता था, लोग फोटो खिंचाकर निकल जाते थे. भाजपा सरकार वहां, संत रविदास जन्म स्थली विकास परियोजना पर भी तेजी से काम कर रही है.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हमारा काम करने का तरीका, हमारा काम करने की प्राथमिकता पूज्य संत रविदास जी ने सदियों पहले मार्गदर्शन किया था, उसी नक्शे कदम पर चलना ही है.’

उन्होंने कहा, ‘मेरे लिए ये खुशी की बात है कि मैं उस काशी का सांसद हूं जहां संत रविदास जी का जन्म हुआ. ये भी मेरा सौभाग्य है कि बनारस में उनके मंदिर परिसर के सौन्दर्यीकरण के पवित्र कार्य के लिए ईश्वर ने मुझे माध्यम बनाया. मुझे उस परिसर को सजाने का मौका मिला.’

‘यूपी में बीजेपी होने का मतलब गुंडाराज पर कंट्रोल’

पीएम मोदी  ने कहा, ‘यूपी में बीजेपी की सरकार होने का मतलब है गुंडाराज माफिया राज पर कंट्रोल, यूपी में बीजेपी की सरकार का मतलब है पूजा करने की पूरी सवतंत्रता, यूपी में बीजेपी की सरकार का मतलब है बहन-बेटियों को मनचलों से पूरी सुरक्षा देना.’

‘पहले गरीबों का राशन माफिया लूट लेते थे’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘संत रविदास परियोजना पर बीजेपी प्रयास कर रही है. गरीब का राशन जो पहले माफिया लूट लेता था, उसका एक-एक दाना गरीब के घर पहुंच रहा है.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.