2-4 सीट नहीं, पूरी ट्रेन करवा सकते हैं बुक; जानें खर्च

(मानवीय सोच) कहीं आने-जाने के लिए ट्रेन में टिकट बुक करवाने का तरीका तो सबको पता है. क्या आपको पता है कि आप चाहें तो पूरी ट्रेन भी बुक करवा सकते. आप जानकारी पढ़कर हैरान हो गए होंगे लेकिन यह सच है. आज हम आपको बताते हैं कि आप ऐसा कैसे कर सकते हैं.

50 हजार रुपये में करवा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

अगर आपको किसी खास अवसर के लिए पूरी ट्रेन बुक (Train Booking Process) करवानी है तो आपको नजदीक के किसी बड़े रेलवे स्टेशन पर जाना होगा. वहां पर आप स्टेशन मास्टर को अपने प्रोग्राम की डिटेल बताते हुए बुकिंग की एप्लीकेशन और 50 हजार रुपये रजिस्ट्रेशन फीस दे सकते हैं. इस एप्लीकेशन में बताना होता है कि आपको ट्रेन किस अवधि और किस रूट पर बुक करवानी है.

18 कोच वाली ट्रेन की होती है बुकिंग

ध्यान देने वाली बात ये है कि भारतीय रेलवे कम से कम 18 कोच वाली ट्रेन की बुकिंग करती है. अगर आप टुकड़ो में 5-7 कोच वाली ट्रेन बुक करवाना चाहें तो वह नहीं हो सकेगा. पूरी 18 कोच वाली ट्रेन की बुकिंग  में रजिस्ट्रेशन और सिक्योरिटी चार्ज के रूप में करीब 9 लाख रुपये का खर्च आ जाता है. इसमें सर्विस चार्ज, सेफ्टी चार्ज और अन्य चार्जेस भी शामिल हैं.

पैसेंजर्स की देनी होती है लिस्ट

यात्रा शुरू करने से कम से कम 72 घंटे पहले स्टेशन के मुख्य यात्री परिवहन प्रबंधक के दफ्तर में जाकर पैसेंजर्स की लिस्ट देनी होगी. इस लिस्ट में ट्रेन में यात्रा करने के इच्छुक सभी यात्रियों की डिटेल दर्ज होनी चाहिए. इसके बाद उस सूची के आधार पर यात्रियों के टिकट तैयार किए जाते हैं, जिसे ट्रेन में यात्रा करने वाले लोगों को अपने साथ कैरी करना होता है.

7 दिनों से ज्यादा यात्रा पर एक्स्ट्रा चार्ज

यहां इस बात को जानना भी जरूरी है कि अगर आपकी यात्रा का अवधि 7 दिनों से ज्यादा की हो तो आपको 10 हजार रुपये प्रति कोच के हिसाब से एक्स्टा चार्ज देना होता है. रजिस्ट्रेशन फीस के लिए पैसे जमा करने के बाद रेलवे (Indian Railways) के चीफ पैसेंजर ट्रांसपोर्टेशन मैनेजर को ऐप्लीकेशन देनी होती है. यह यात्रा शुरू होने से कम-से-कम 30 दिनों पहले दी जानी चाहिए. ऐसा न करने पर ट्रेन की बुकिंग नहीं हो पाती है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.