CWC बैठक के दौरान कांग्रेस दफ्तर के बाहर हंगामा

नई दिल्ली (मानवीय सोच) हालिया विधान सभा चुनावों में कांग्रेस की करारी शिकस्त को लेकर सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई. कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में हार के कारणों पर चर्चा और आगे की रणनीति तय की गई. इस दौरान राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाने की मांग उठी. पार्टी कार्यालय के बाहर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने को लेकर नारेबाजी भी की.

गांधी परिवार को लेकर उड़ी थी ये अफवाह

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारक इकाई सीडब्ल्यूसी बैठक पार्टी मुख्यालय में आयोजित की गई. इस महत्वपूर्ण बैठक से एक दिन पहले मीडिया के एक हिस्से में खबर आई थी कि गांधी परिवार पार्टी के पदों से इस्तीफे की पेशकश कर सकता है. हालांकि, कांग्रेस ने आधिकारिक रूप से इस खबर का खंडन किया और इसे ‘गलत एवं शरारतपूर्ण’ करार दिया था.

पंजाब में कांग्रेस ने गंवाई सत्ता

सीडब्ल्यूसी की बैठक ऐसे समय हो रही है जब कांग्रेस ने पंजाब में सत्ता गंवा दी और उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भी उसे करारी हार का सामना करना पड़ा है. सोनिया गांधी पिछले कुछ समय से सक्रिय रूप से प्रचार नहीं कर रही हैं, प्रियंका गांधी वाद्रा के अलावा राहुल गांधी कांग्रेस के स्टार प्रचारक रहे हैं. साथ ही, भाई-बहन की जोड़ी पार्टी के महत्वपूर्ण फैसलों में भी प्रमुख भूमिका निभाती है.

हार के बाद ‘जी 23’ समूह के कई नेताओं ने की थी बैठक

इन विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की करारी हार के बाद पार्टी के ‘जी 23’ समूह के कई नेताओं ने शुक्रवार को बैठक की, जिसमें आगे की रणनीति को लेकर चर्चा की गयी. राज्यसभा के पूर्व नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के आवास पर हुई इस बैठक में कपिल सिब्बल, आनंद शर्मा और मनीष तिवारी शामिल हुए.

‘जी 23’ के नेता पुरानी मांगों पर अड़े

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस कार्य समिति में शामिल ‘जी 23′ के नेता सीडब्ल्यूसी की बैठक में चुनावी हार का मुद्दा और पार्टी संगठन में जरूरी बदलाव और जवाबदेही सुनिश्चित करने की अपनी पुरानी मांग उठा सकते हैं. ‘जी 23’ समूह के प्रमुख सदस्य गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा कांग्रेस कार्य समिति में शामिल हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.